अख्नो मानवता छै

न्यूज डेस्क     २०८० श्रावण २३, मंगलवार १२:३३ बजे मा प्रकासित


–सुधा मिश्र

हमरा एकटा स्कुलमे जबके सिलसिलामे जायके छला साइन्स टिचरके भेकेन्सीके चलते हमरा कल आयल छल। स्कुल किछु हाइट पर आई विल टिच द सेमा’ भेलाक कारण आ अपना समथर जगह चलके आदत होवाकके कारण हाइट पर चढकाल सास उपरे उपरे बल लगैत छल पाँच सय मिटरके दुरी मात्रे चलके रहितोमे उचाइबाला बाट आउर नव जगह भेलाक कारण स्कुल बडी केहनदन उटपटांग ठाम पर लागिरहल छल। एक मोन होइ छल घुरिक चलिजाइ छी दोसर मन कहि उछल जे एक बेर इन-चोर कपी।” जाक भेट कि जाइ छी तोरा ?

हम स्कुलमे पहुंचति खीदेखत स्कुल नहि जानि किया हमरा बिजाइयारिसेप्सनमे बैसल हमर नजर भायल चक्लेटके वहा पर परयामोन होइय उठालति छो एकटा कि सोचाजाइय कि भगलोव तोरा? देखाइत नहि खै कतेक लोक अहिठाम? सब देखरहल छी कि जानि प्रिन्सिपल सेहो सिसिटिभी से होड़ बाच करत बात सही व ए छलै सिसिटिभी आ सब स्टाफके सामने उलिये हमजे होउक इमलीवाला चक्लेट सेहो अहमरा खायके अछि त खायके अहि सोचिते छली कि तावितेमे रिसेप्सनिष्ट एकटा फर्म फिल करलेल हमरा बजवेय

“ओके म्याम जस्ट कहत हम चक्लेट उठबति फर्म तक भर लगैत छीओहिमे एकटा प्रश्न छ किया तोरा टिचिग जब नीक लगैत छी? बस कि छलै हमहु अपन थेसिस देवमे पाछु नहि रहली जे किया कि इ एक रोयल जब धिकाअहि पेशामे लागल आदमी डिप्रेसनके सिकार नहि भय सकैत अछि। फर्म भेलाक बाद हमरा दोसर बिल्डिंगमे लगेल गेला अनुमान लगबमे देर नहि लागल से क्लास अहि बिल्डिंगमे चलैत है। शिशे शिशे से बनल कम्निकेसनमे बड़का बडका सोफा सजल छले एकटा आदमी लग लगेल गेल। हमरा बुझागेल जे इहे हमर डेमो लेत हो नहि होय इ एडमिनके आदमी हेते कुनो विशेष पदवाला हम औपचारिकता स्वरुप दुनु हाथ जोरिक “नमस्ते सर कहत छिय

उम्हरी से जवाब भेटैया

‘म्याम प्लीज सिट’ कहैत ओ अपन बैसैत हम वैस जाइत छी ‘आर यु रेडी टु गिभ डेमो आइ का अर यु वान्ट टु टेक सम टाइम टु रिड बुक आइ विल प्रोभाइड यु अ बुक।” “नो नो आइ डन्ट वान्ट टु सी एनी बुकाआइ एम रेडीयु केना

‘नो प्रोब्लेमा इफ यू वान्ट आइ बिल प्रोभाइड यु

“थैंक्यू सर फर दिसाआइ डोन्ट निड इफ यू चान्ट देन केन टेक माइ डेमो जस्ट नाउ आइ एम रेडी’ “ओके ट्रेन लेट्स गो।’, कहि सर हँसे हमरा लक

जाइत अछी बिना “कलासमे सेक्सुबल रिप्रोडक्सन सकल है। अंश

असेक्सुबल रिप्रोडक्सन बारे पढबके हाय

हम मोनेमन सोचैत छी बायोमे डेमो सर फिजिक्स चाहे केमिस्ट्रीमे स कुनोमे देला से नहि हेते?” क किया नरके वे मोन होइय से

कलिया भेलैय ताय हम कहलोह असेक्शुअल रिप्रोडक्सन

सर अपनी देल जाय कुनो पिका क्लासमे सेक्शुअल रिप्रोडक्सन समाप्त

पलास १५ मिनेट जतेक अंहाके पढेबाक आँखा’ पन्दरही मिनेट त है कतेक हमरा पढ़ाब ही परत डिफिनिसन आ जाम्पले सकि जेता हमरे

हमर डेमो सुरु भगेल छल सर खिडकीमे अडेस लागि देखरहल छलखिना बोर्ड पर डाइयाम दू कब हम कोना अमिबा बच्चा दति है देखचति हिम आँखि अन मेनर्ड भय बैसल बच्चा पर परंतू सिट प्रोपली कहत सचेत करावति आ सबके अपना दिस तन्ने कहैत छिदे, कपी अल दिज थिंग्स

सरके हमर इ एक्टिभिटी पसिन परैत छीना अभिवाके एजापल से जोडत हम कहत छिये अखने कनिक दिन पहिने मदर्स डे अपन सहक छल आर एक दु दिन पहिने इन्टरनेशनल मदर्स डे छत्तीसभगोटे मनने हायवा ओना मिनिंग अफ मदर सभ जनिते छी आ अह डाइग्राम से आर विशेष किलियर भगेल हायत जे मदर अपनाके टोटली दुठमन बाटिक दुटा डटरके जन्म दति छोइ बात दोसर है जे स्युमन बिसमे जन्म देवलेल अपनके मिटब नहि परितो एक तरहे ओहने है माय बच्चाके लेल अपन अस्तित्व तकिके प्रवाह नहि करती क्लाश पूरा शान्त भगेल छला सब इह बातके मनन कौत बोर्ड पर पारल डाइग्रामके एकटक देखरहल लोहमर नजर सर दिस जाइयासर हमरा देखरहल उत्खन ओखिक ईशारा से कहैत छथिन भगेलाह अपना ओते रोकि क्यु क्लाश कहत सर सँग बाहर निकल जाति खीकनिक देरक बाद हमरा इन्फर्मेसन अबैत अछि जे काल्हि अहाके फोन कवक पूरा जानकारी देल जायता हमरा युभागेल छल हमर डेमो सरके निक लागल छलेना उवाह भेले हम स्कूल के सेवा करलगली।

ईस्कुल एकटा प्रोग्रेसिभ स्कुल भेलाक कारण सिस्टम कि नयाँ टिचरके लम्बा चौडा क्लास देवके बदला मिनि लेशन दवक विद्यार्थीए से बेसी से बेसी लेबके होइत छलीखुद प्रिन्सिपल कहैत छलखिन दस मिनेट से बेसी अँहा सभके अपन बात राखलाब समय नहि लेबाक अखि सिस्टम रहीक हमरा सबमे पुलमिल करके आदत निगेल छल किया कि प्राइभेट स्कूल सभके नियम हम सर दिस बकर बकर ताक लगैत छीसर नीति महिने पाछु बदलत रहेत छ आइ इ करू हमर आँखिमे तकैत ईशारा से कहिजाइत छथिन

सप्ताह के अन्तिम दिन एल इ (लर्निंग एभिडेन्स भजेते।’ यानी बच्चा किस सिल तक रेकर्ड) बुव उनी अपने नयाँ होवक कारण बहुत किन्छु सिस्टमके बारेमे अन्जान रहितो सर टि एल टि (टिम लिडर टिचर) जे हमर डेमो लेने छलखिन हुनकर सरल विहेभ आ निक निर्देशन के कारण हमरा तेहन किछु कठिनाइ महशुस नहि भेल छला

हमहु अपन क्लासके एल ई तयार केली| एकटा सेक्सन सकिछु बहुत बन्हिया छल से एकटा सेक्सन एकटा एल ई के बच्चा द्वारा किछु करके बाँकी रहिगेल छलैसममे आबि नहि रहल छल एना केना भगेले? डेराइत हम सर लग पहुँच अपन

रिपोर्ट बढ़वति छिवासर में हमरा वाहवाही भेटल लेकिन हमरा बुझल छल ई छनिक छै जे हेते से आब होयबाला ओहि डरक आगमे हम अहि खुशी खुश हो असमर्थ उवाह भेले जकरा हमरा डर छलादोसर सेक्सन के रिपोर्ट देखिते सर हमरा से पुछिदति छथि जे अकर एकटा एल ई कम्पलिट नहि भेल ? हम किछु नहि बाजि सरके देखेत रहिजाइत छिकि जवाब दितिये ? जबाब रहक चाहिने

दुन सेक्सन के लेल सेम समय देल गेल त फेर एनाकोना भगेल ? सर हमरा से पुनस त छथिना

सर हम अपने नहि बुझि पाविरहल छी हाथक बात त है सोचि हम कहलियइ, ओके सर कोना भगेले?’ अहि से आगु हमरा किछु बाजल नहि होइत अछिसर दिस देखके सेहो साहस नह रहिनाइयांभितर भित्तर काय लागल छल जे आब कि हायत? आंखि नोरागेल छलावडी मुस्किल स नोरके भितरे आँखिमे छुपा पायल छली सर] नहि देखेत से कहि उम्र मुह घुमा लेने छली

हम ओहिठामके ओहिठाम आश्चर्यचकित भेल रहिगेली बुद्धि जे हमर सबटा स्थिति सर पढि लेने छलेथा हुनका हमरा एना देखि रहल नहि गेलेन त बैसल सर हमरे सँगे ठाम भय कहैत छथिन, हम किछु कहती है अहा? नहि कहली होतब एना किया? सरके आवाजमे करुणा भरल छलेना

हमरा मोनके सरके कहत एक एक शब्द बड़का सहारा जाक लागला विश्वास नहि भयरहल छल अपना सँग घठल इ घरी पाकि कि नहि सुनासत सोचि डरायल मोनके एहन भावनात्मक शब्दक श्रवणाहम सर दिसतकैत छी सरक चेहरा पर हम अपना लेल कुनो सिकायत नहि भेटैत छीसर आँखिएक बोली से सम्भवत हमरा दिस ताकि मुस्कुराति छथिनाहुनकर एहन कोमल विहेव देखि हम पुरा डर से बाहर भगेल छलि मुदा नहि जानि किया औखि फेर डबडबा गेल छल? सर कह देख महिलेय कहि हम मुरी भुका निचा ताक लगत छोई आँखियो बढी अजिब चीज होइका दुखमेत ब बाँडै खुशीयो मे वह पाछु नहि परत मानके बड सन्तोष भेटिरहल छलाविश्वास नहि भयरहल छल जे हमर पौड़ा सरके सेहो कष्ट पहुंचा रहल छलैनासच कही त हम सरक एहन कोमल विहेब तरह डुबिगेल छल जे हमरा यादे नहि रहिगेल कन हम कहिदेलियै सरई त अपनेक महानता अछि मुदा ईट्स माइ फलूट

“हम त नहि कहलीह बात ठीक है ईवाह लगेय ताकहियो काल एना भजाइत अइट्स ओको अकरा अतै छोरिदेवाक आव अहि बात के दोष से चन्हिया हम कहब अकरा एनाक देखियो जे हमराह से किछु सिवाके चाहि जाहि से फेडर नहि दोहराया सर बहुत स्थिर से हमरा कहिरहल छलखिना

कोनो बात नहिकिछु नहि भेलेय ? सब ठीक

सर मुस्कुरा रहल छलखिना हम सरके जवाब मुस्कराक देति ओहिठाम से बिदा होइत ही एक अजीब खुशी लागिरहल छलामोन बढ प्रशन्न लागिरहल छलाविश्वास नहि भवरहल छल हम सपनामै छ कि सबमे इह विपना अखि लागल जेना किछु बहुत अनुप चिज हमरा हात लागिगेल होयामिभागेल दीप एकाएक जरिउठल जीवनमे जाहिचीजके तलाशमे हम भटकि रहल छली ओ चिज हमरा भेटगेल छलादेहिया उर्जावान भयउठल छला असगरेमे ठोर पसरल छल जानि जे अखनो मानवता छै

प्रतिक्रिया





Top